केंद्र सरकार ने अपने अफसरों और कर्मचारी को चेतावनी भेजी

गृह, वित्त, रक्षा, विदेश मंत्रलयों और सुरक्षा एजेंसियों में संवेदनशील डेस्क पर काम करने वालों अफसरों को यह चेतावनी भेजी गई है कि वे बिना नेटवर्किग वाले कंप्यूटर पर काम करें और आंकड़े और संवेदनशील सूचनाएं रखने को इंटरनेट का इस्तेमाल न करें. 

govt-warns-its-employee-not-to-use-shoddy-computer

नई दिल्ली, 16 मई: ऐसे समय में जब पूरी दुनिया साइबर हमले का शिकार हो रही है, केंद्र ने रणनीतिक और संवेदनशील क्षेत्रों में काम करने वाले अधिकारियों को आगाह किया है. ऐसे अफसरों से कहा है कि वे बिना नेटवर्किग वाले कंप्यूटर पर काम करें और आंकड़े और संवेदनशील सूचनाएं रखने को इंटरनेट का इस्तेमाल न करें.गृह, वित्त, रक्षा, विदेश मंत्रलयों और सुरक्षा एजेंसियों में संवेदनशील डेस्क पर काम करने वालों को यह चेतावनी भेजी गई है. एक वरिष्ठ सुरक्षा अधिकारी का कहना है कि हम कुछ मंत्रलयों और विभागों में अधिकारियों को सलाह देते रहते हैं कि संवेदनशील सूचनाएं रखने के लिए वह बिना नेटवर्किग वाले कम्प्यूटर का प्रयोग न करें, ताकि उन्हें कोई हैक ना कर सके। यह लगातार चलने वाली प्रक्रिया है. अधिकारी ने कहा, संवेदनशील क्षेत्रों में काम करने वाले ज्यादातर अधिकारी बिना इंटरनेट कनेक्शन वाले कम्प्यूटर का उपयोग करते हैं और फूलप्रूफ नेटवर्क सुनिश्चित करने के लिए यह चेतावनी अक्सर दी जाती है.

150 से ज्यादा देशों के कंप्यूटर नेटवर्क प्रभावित करने वाले साइबर हमले की वजह से सोमवार को देश में भी कई एटीएम बंद रखे गए. सरकार ने कहा है कि भारत में इस साइबर हमले का गंभीर असर नहीं हुआ है. बावजूद इसके कई शहरों के बैंकों ने एहतियातन तौर कई एटीएम बंद रखे हैं. साथ ही बैंकिंग में भी अतिरिक्त सतर्कता बरती गई. देश में 2.2 लाख एटीएम हैं, जिनमें से कुछ पुराने ¨वडोज एक्सपी ऑपरेटिंग सिस्टम पर चल रहे हैं. भारतीय रिजर्व बैंक ने हालांकि एटीएम बंद करने के कोई निर्देश नहीं दिए थे. उसने सिर्फ पिछले साल जारी दिशानिर्देश का पालन करने के लिए एडवाइजरी जारी की है.

No comments