आईसीसी की चेतावनी को नजरअंदाज करना पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) को भारी पड़ा

आईसीसी की चेतावनी को नजरअंदाज करना पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) को भारी पड़ा

pcb-spot-fixing-latest-news-at-paramnews-com

कराची क एजेंसियांअंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद की भ्रष्टाचार निरोधक एवं सुरक्षा इकाई (एसीएसयू) के प्रमुख सर रोनी फ्लैनगन ने शुक्रवार को दो टूक कहा कि उन्होंने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के एसीयू को पाकिस्तान सुपर लीग (पीएसएल) में संभावित स्पॉट फिक्सिंग के बारे में पहले ही सचेत कर दिया था. लेकिन पाक बोर्ड ने एसीएसयू की चेतावनी को गंभीरता से नहीं लिया. इसी का नतीजा है कि पीएसएल में स्पॉट फिक्सिंग हुई और इसमें पाक के कई अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी फंस गए. 

पाक का दावा झूठा : एसीएसयू प्रमुख रोनी फ्लैनगन के बयान के बाद पीसीबी का दावा भी झूठा साबित हो गया. पीसीबी अब तक दावा करता रहा है कि उसके एसीयू अधिकारियों ने फरवरी में लीग में स्पॉट फिक्सिंग का खुलासा किया. लेकिन इसके विपरीत फ्लैनगन ने लाहौर में मीडिया से कहा, आईसीसी एसीएसयू ने ब्रिटेन में राष्ट्रीय अपराध एजेंसी से मिली जानकारी के आधार पर पीसीबी की इकाई को सूचित कर दिया था. फ्लैनगन से सीधा सवाल किया गया था कि पीएसएल में स्पॉट फिक्सिंग का खुलासा किसने लिया, उन्होंने कहा, हमने ऐसा किया.

फ्लैनगन ने गवाही दी : पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने स्पॉट फि¨क्सग मामले की जांच के लिए तीन सदस्यीय पंचाट नियुक्त किया था. इसकी सुनवाई में पीसीबी की तरफ से गवाह के तौर फ्लैनगन उपस्थित हुए थे. इस पंचाट की नियुक्ति पीसीबी ने बल्लेबाज शरजील खान तथा अन्य पाक खिलाड़ियों मोहम्मद इरफान, खालिद लतीफ, शाहजैब हसन और नासिर जमशेद को फिक्सिंग के मामले में निलंबित करने के बाद की थी.

No comments