अनिल कुंबले का टीम इंडिया के कोच पद से इस्तीफा

नई दिल्ली 20 जून 2017: अनिल कुंबले, भारतीय टीम के वर्तमान हेड कोच ने आज मंगलवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया. हालांकि, ICC चैंपियंस ट्रोफी की शुरुआत से पहले ही कैप्टन विराट कोहली और कोच कुंबले में मतभेद की खबरें सामने आई थीं. इसके बाद मिडिया में, कोच और कैप्टन में सब कुछ सही न होने की बातें लगातार सामने आ रही थीं. जबकि, कोहली मीडिया के सामने मन-मुटाव की खबरों को नकारते रहे, लेकिन अब उनके इस्तीफे के बाद यह माना जा रहा है कि उनकी पटरी कोच कुंबले के साथ नहीं बैठ रही थी. 

anil-kumble-quits-as-head-coach-of-team-india-paramnews-today-hindi-news

बता दें कि अनिल कुंबले को साल 2016 में भारतीय टीम का कोच बनाया गया था. एक साल के इस कार्यकाल में उनका रेकॉर्ड शानदार रहा है.

गौरतलब है कि मंगलवार को वेस्ट इंडीज दौरे के लिए रवाना हुई टीम के साथ कोच कुंबले नहीं गए थे. तभी से अटकलों का बाजार गर्म था. हालांकि कुंबले ने इसके पीछे आईसीसीस के साथ बैठक का हवाला दिया था. साथ ही यह भी कहा था कि बाद में टीम को जॉइन करेंगे. बता दें कि शनिवार को कप्तान कोहली ने सीएसी सदस्यों के साथ एक घंटे चली बैठक में किसी भी सूरत में अजस्ट करने से इनकार कर दिया था. ऐसे में यह लगभग साफ हो गया था कि कोच के साथ कप्तान का विवाद अब सुलझने नहीं वाला.

इस चैंपियंस ट्रोफी के साथ ही कोच के रूप में इस दिग्गद पूर्व खिलाड़ी का कार्यकाल समाप्त हो गया था. उनके शानदार कोचिंग परफॉर्मेंस को देखकर लग रहा था कि क्रिकेट अडवाइजरी कमिटी (सीएसी) उनके कार्यकाल को वर्ल्डकप 2019 तक के लिए आगे बढ़ाएगी. लेकिन कोच-कैप्टन में बढ़ें मतभेदों के चलते ऐसा होता नजर नहीं आ रहा.

सीएसी के सदस्य सौरव गांगुली, सचिन तेंडुलकर और वीवीएस लक्ष्मण ने विराट को इस बारे इंग्लैंड में बैठक कर मनाने की कोशिश की थी, इस बैठक में बीसीसीआई सेक्रेटरी अमिताभ चौधरी भी शामिल थे. लेकिन कुंबले के इस्तीफे के बाद अब यह साफ हो गया है कि कोहली कुंबले के साथ मिलकर काम करने को राजी नहीं हो पाए.

अनिल कुंबले के इस्तीफे से पहले टेलिग्राफ में छपी रिपोर्ट के अनुसार, सीएसी सदस्यों के लिए यह बहुत ही पशोपेश की घड़ी थी. उन्होंने कुंबले के साथ मिलकर उनका पक्ष जानने की भी बात कही थी. कोच चुनने की जिम्मेदारी सीएसी की है और सीएसी में शामिल तीनों सीनियर खिलाड़ी लंबे समय तक कुंबले के साथ ड्रेसिंग रूम साझा कर चुके हैं. उनके लिए कोच के तौर पर पूर्व लेग स्पिनर का शानदार रेकॉर्ड देखकर उन्हें टर्मिनेट करने का फैसला बेहद मुश्किल था. 

कोच का चयन चैंपियंस ट्रोफी के दौरान ही होना था, लेकिन बीसीसीआई में कई मामलों पर चल रही उठापटक के चलते इसे आगे के लिए टाल दिया गया था.  इस बीच वेस्टइंडीज दौरे तक अनिल कुंबले का कार्यकाल आगे बढ़ा दिया गया था. उल्लेखनीय है कि वेस्टइंडीज दौरे के लिए कोच कुंबले की फ्लाइट टिकट भी टीम इंडिया के बाकी सदस्यों के साथ ही थी, लेकिन वह टीम के साथ रवाना नहीं हुए.

No comments