रेलवे भर्ती परीक्षा में आईटीआई की अनिवार्यता खत्म, रेलमंत्री ने किया ट्वीट

रेलवे भर्ती परीक्षा में आईटीआई की अनिवार्यता खत्म, रेलमंत्री ने किया ट्वीट 

रेलवे भर्ती परीक्षा में आईटीआई की अनिवार्यता खत्म कर दी गई है. अब ग्रुप डी परीक्षाओं के लिए आटीआई या एनसीटी योग्यता की दरकार नहीं रहेगी. रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट कर इस फैसले की जानकारी दी है. रेल मंत्री ने एक के बाद कई ट्वीट किए हैं. इस निर्णय से उन लाखों छात्रों का प्रयास रंग लाया है जो पिछले कई दिनों से आंदोलन कर रहे थे.
iti-not-mandatory-railway-recruitment-for-group-d-paramnews

रेल मंत्री ने ट्वीट कर कहा है कि इस पूरे विषय में सरकार से युवक-युवतियों की, जनता जनार्दन की उम्मीदें हैं. सबको समान मौका मिले, रेलवे भर्ती की तैयारी के लिए पर्याप्त समय मिले, इसलिए जनहित में फैसले लिए हैं. बताया कि कक्षा 10 या ITI या NCVT का प्रमाणपत्र रखने वाले सभी अभ्यर्थी अब लेवल-1 की परीक्षा के योग्य माने जायेंगे. वे वह इन पदों के लिये आवेदन कर सकते हैं. एक अन्य ट्वीट में कहा कि पहले 10वीं कक्षा पास विद्यार्थी लेवल-1 परीक्षा में भाग ले सकते थे. हम इस स्थिति को पुनः स्थापित कर रहे हैं. अब इस परीक्षा के लिये 10वीं पास विद्यार्थी आवेदन कर सकते हैं.

पूरे बिहार में चल रहा था आंदोलन : पिछले कई दिनों से ग्रुप डी परीक्षाओं में उम्र सीमा बढ़ाने, आईटीआई अनिवार्यता हटाने और 10वीं शैक्षणिक योग्यता रखने को पूरे बिहार में आंदोलन चल रहा था. पटना में पिछले चार दिनों से लगातार छात्र प्रदर्शन कर रहे थे. गुरुवार को भी पटना के बहादुरपुर में रेलवे की ग्रुप डी परीक्षाओं में आईटीआई की अनिवार्यता समाप्त करने को लेकर छात्रों ने रेलवे ट्रैक को जाम किया.


भारी संख्या में पहुंचे छात्रों ने आगजनी की. प्रदर्शनकारी छात्रों ने कटिहार इंटरसिटी एक्सप्रेस को घंटे भर रोक रखा। इसके साथ ही जयपुर एक्सप्रेस को भी रोका गया. बता दें कि मंगलवार को इसी मुद्दे को लेकर पटना के राजेंद्रनगर में बवाल किया गया था। नया टोला में भी छात्रों ने खूब हंगामा किया था. कोचिंग सेंटर में तोड़फोड़ और पथराव के बाद मामले ने तूल पकड़ लिया था. सबसे ज्यादा विरोध औरंगाबाद के रफीगंज में देखने को मिला था। इसी तरह आरा में भी छात्रों का आक्रोश रहा था.

Comments