सीए के लिए पहली बार ओपन बुक परीक्षा छठे पेपर में वैकल्पिक विषय चुनने का मौका

सीए के लिए पहली बार ओपन बुक परीक्षा छठे पेपर में वैकल्पिक विषय चुनने का मौका 

व्यावसायिक पाठ्यक्रमों में पहली बार द इंस्टीट्यूट आफ चार्टर्ड एकाउंटेंट आफ इंडिया (आईसीएआई) सीए परीक्षा में ‘ओपन बुक पैटर्न ' शुरू करेगा. ओपन बुक परीक्षा नवंबर से शुरू होगी. पहले चरण में सीए फाइनल के नए पाठ्यक्रम में इसे लागू किया जाएगा.
elective-paper-open-book-exam-introduced-icai-ca-final-hindi-news

सीए में भी छात्र याद करके परीक्षा देते हैं. इसमें व्यवहारिकता और बुद्धिमत्ता स्तर की जांच का तरीका नहीं है. छात्रों में योग्यता की खोज के लिए ओपन बुक का तरीका लागू किया गया है. शुरुआत एक पेपर से की गई है.

इसके तहत सवाल को समझ कर छात्रों को ये देखना होगा कि ये एक्ट किस अध्याय में है. दरअसल, सीए अब एकाउंटिंग और ऑडिटिंग से बहुत आगे बढ़ चुका है. सीए को तत्काल रणनीतिक फैसले और उद्यमिता की जानकारी होना भी जरूरी है. ऐसा कारोबार में बढ़ती जटिलताओं और तेजी से फैलते ग्लोबल प्लेटफार्म की वजह से हुआ है. टेक्नोलाजी में तेजी से बदलाव हो रहे हैं. पिछले तीन साल में टैक्स से जुड़े कानून में 150 से ज्यादा संशोधन हो चुके हैं. . 

सीए फाइनल में आठ पेपर होते हैं. दो ग्रुप में चार-चार पेपर हैं. सात पेपर पुराने पैटर्न पर ही होंगे. छठा पेपर के रूप में छात्रों को वैकल्पिक विषय चुनने का मौका मिलेगा. परीक्षा में किताब और केस स्टडी ले जाने की छूट रहेगी. 

फाइनल परीक्षा के पंजीकरण के समय सूची में से एक वैकल्पिक पेपर चुनना होगा. उससे संबंधित मैटर संस्थान मुफ्त उपलब्ध कराएगा. ' छह विकल्पों में से किसी एक को फाइनल परीक्षा से पहले बदल सकते हैं. लेकिन फार्म भरने के बाद कोई बदलाव नहीं किया जा सकेगा. अगर छात्र चुने गये विषय में फेल हो जाता है तो अगली बार अपना विषय बदल सकता है. लेकिन इस मामले में मैटर खरीदना पड़ेगा. 

ओपन बुक परीक्षा के तहत छात्रों को परीक्षा कक्ष के अंदर नोट्स ले जाने की अनुमति होगी. वे कॉपी ले जा सकेंगे या फिर किताब भी साथ ले जा सकते हैं. इसके बावजूद परीक्षा आसान नहीं होगी.

Allowing students to shift from one Elective Paper to another Elective Paper 

Under the Revised Scheme of Education and Training, Electives have been introduced at the Final level in the following areas:
  1. Global Financial Reporting Standards 
  2. International Taxation 
  3. Financial Services & Capital Markets 
  4. Risk Management 
  5. Economic Laws 
  6. Multidisciplinary Case Study 
Students are required to opt for one of these Electives in Paper 6 of Final level and the examination of these Electives will be Open Book and Case Study based.

Since it is for the first time students would be attempting case study and open book based examinations, they may find it relatively difficult to attempt their papers and may like to switch over to other Elective than the one chosen at the time of registering for the Final course. For easing out the probable hardships of students, the Council has decided as under:-
  1. At the time of registration to Final, the student has to select one Elective from the list of Electives mentioned above. 
  2. Student would get the relevant study material / other academic inputs on the basis of the Elective initially opted by him. 
  3. At any time thereafter, any student would be allowed to change the option of elective and indicate the new option in the examination form. 
  4. Once a student fills an option in the examination form, thereafter, he/she cannot change the option for that particular examination. Student has to write the elective opted for by him in the examination form. 
  5. In case a student is not able to clear the examination in the chosen elective, he can opt for another elective, on filling the examination form for the next examination. 
  6. If student wishes to procure the study material for a different elective subject than the one opted initially, he would have to purchase it separately. Exchange of study material of the initially opted elective with the newly opted elective will not be allowed. 
Director, Board of Studies 
Source: https://www.icai.org/new_post.html?post_id=13639

Comments