Friday, 16 November 2018

दूसरे राज्य में आरक्षण का लाभ नहीं | सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट आदेश | दूसरे राज्य में आरक्षण का लाभ नहीं



नई दिल्ली 
16 Nov 2018

[post_ads]
सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को एक अहम फैसले में कहा कि किसी को दूसरे राज्य में आरक्षण का लाभ नहीं दिया जा सकता भले ही उसकी शादी उस राज्य में क्यों न हुई हो. व्यक्ति का जिस राज्य में जन्म हुआ है, सिर्फ वहीं आरक्षण मिलेगा.
सुप्रीम आदेश 
  • ' शीर्ष कोर्ट ने कहा, विवाह और जाति प्रमाणपत्र के बाद भी लाभ नहीं.
  • ' व्यक्ति का जिस राज्य में जन्म हुआ है, सिर्फ वहीं आरक्षण का दावा.
[post_ads_2]
चीफ जस्टिस की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा, सिर्फ इस आधार पर कि प्रवासी राज्य में किसी जाति को एससी माना गया है, उस राज्य में आकर बसने वाले व्यक्ति को एससी का नहीं माना जा सकता. भले ही उसे एससी का प्रमाणपत्र मिला हो. पंजाब में वाल्मीकि समुदाय की रंजना ने उत्तराखंड के इसी समुदाय के युवक से शादी की. यह जाति उत्तराखंड में भी एससी मानी गई है. रंजना का जिला सूचना अधिकारी पद का आवेदन यह कह खारिज कर दिया गया कि वह पंजाब में एससी है लेकिन उत्तराखंड में आरक्षण का लाभ नहीं ले सकती.

reservation-in-other-states-sc

Source: livehindustan

0 comments

Post a Comment