Saturday, 8 February 2020

Coverage of Employees under NPS | राष्ट्रीय पेंशन योजना के तहत कर्मचारियों के कवरेज में वृद्धि

Increased coverage of Employees under NPS | राष्ट्रीय पेंशन योजना के तहत कर्मचारियों के कवरेज में वृद्धि
coverage-of-employees-under-nps-rajyasabha

भारत सरकार
वित्त मंत्रालय
वित्तीय सेवाएं विभाग

राज्य सभा

अतारांकित प्रश्न संख्या 224

जिसका उत्तर 04 फरवरी, 2020/
15 माघ, 1941 (शक) को दिया गया

    राष्ट्रीय पेंशन योजना के तहत कर्मचारियों के कवरेज में वृद्धि


    डा॰ टी॰ सुब्बारामी रेड्डीः

READ  Minimum Balance Requirements In India Post Accounts And Other Details

क्या वित्त मंत्री यह बताने की कृपा करेंगे किः

(क)   क्या यह सच है कि निजी क्षेत्र के कर्मचारियों के बीच राष्ट्रीय पेंशन योजना (एन॰पी॰एस॰) बचत का एक कम पसन्द किया जाने वाला विकल्प है;

(ख)   1 जनवरी, 2020 तक, एन॰पी॰एस॰ के तहत पंजीकृत कम्पनियों और शामिल किये गए कर्मचारियों की संख्या क्या है;

(ग) क्या पेंशन निधि विनियामक एवं विकास प्राधिकरण द्वारा एन॰पी॰एस॰ के अंतर्गत अधिकाधिक कर्मचारियों को शामिल करने हेतु कंपनियों से संपर्क करने के लिए कोई अभियान या नीति तैयार की गई है; और

(घ)    वित्त वर्ष के अंत तक पेंशन के लिए कितने कर्मचारियों अथवा अंशदाताओं को जोड़े जाने की उम्मीद है, तत्संबंधी ब्यौरा क्या है?

उत्तर

वित्त मंत्रालय में राज्य मंत्री (श्री अनुराग सिंह ठाकुर)

(क) और (ख): पेंशन निधि विनियामक और विकास प्राधिकरण (पीएफआरडीए) से प्राप्त सूचना के अनुसार, राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली (एनपीएस) को स्वैच्छिक आधार पर वर्ष 2009 में निजी क्षेत्र के अभिदाताओं के लिए खोला गया था। तब से दिनांक 18.01.2020 तक, निजी क्षेत्र (ऑल सिटीजन मॉडल और कॉरपोरेट मॉडल) में एनपीएस के तहत कुल 20.35 लाख अभिदाताओं ने नामांकन कराया है। दिनांक 01.01.2020 की स्थिति के अनुसार, एनपीएस के तहत, 7,063 (सात हजार और तिरेसठ) कॉरपोरेट और 9,18,300 (नौ लाख अट्ठारह हजार और तीन सौ) अभिदाताओं ने पंजीकरण और नामांकन कराया है।
READ  Reimbursement of Briefcase Allowance | रक्षा लेखा विभाग में ब्रीफकेस भत्ता की प्रतिपूर्ति
(ग): निजी क्षेत्र के कर्मचारियों के बीच एनपीएस को बढ़ावा देन के प्रयास में पीएफआरडीए समय-समय पर विभिन्न व्यापार निकायों और संगठनों, जैसे फिक्की, विलिस टॉवर वाटसन, मर्सर, आदि के समन्वय में देश भर के विभिन्न स्थानों पर एनपीएस कार्यशालाओं/सम्मेलनों का आयोजन करता है, जिसमें कॉरपोरेट्स को ऐसे सेमिनार/सम्मेलन के लिए आमंत्रित किया जाता है। पीएफआरडीए उन कॉरपोरेट्स की सेवाएं भी लेता है जो अपने कर्मचारियों के लिए पहले ही एनपीएस लागू कर चुके हैं और अपने कर्मचारियों के साथ जागरुकता सत्र/सेमिनार/ विचार-विमर्श का आयोजन भी करते हैं। इसके अलावा, स्वैच्छिक गैर-सरकारी क्षेत्र में एनपीएस के कवरेज को बढ़ाने के लिए एनपीएस वितरण चैनलों जैसे उपस्थिति बिंदु और सेवानिवृत्त सलाहकारों को नियमित रूप से आगे की कार्रवाई करने के लिए कहा जाता है/निर्देश दिया जाता है/प्रोत्साहित किया जाता है। एनपीएस के बारे में जागरुकता को नियमित आधार पर डिजिटल और सोशल मीडिया सहित मीडिया गतिविधियों के माध्यम से बढ़ावा दिया जा रहा है।

(घ): पीएफआरडीए के अनुसार, चालू वित्त वर्ष 2019-20 के लिए निजी क्षेत्र के एनपीएस (ऑल सिटीजन मॉडल एंड कॉरपोरेट मॉडल) के तहत दिनांक 27.01.2020 की स्थिति के अनुसार, एनपीएस में 3.49 लाख अभिदाताओं ने पहले ही नामांकन करा लिया है, और वित्त वर्ष 2019-20 के अंत तक इसमें और बढ़ोत्तरी होने की संभावना है।

*****

GOVERNMENT OF INDIA
MINISTRY OF FINANCE
DEPARTMENT OF FINANCIAL SERVICES

RAJYA SABHA

UN STARRED QUESTION NO. 224

TO BE ANSWERED ON
FEBRUARY 04, 2020/
MAGHA 15, 1941 (SAKA)

INCREASED COVERAGE OF EMPLOYEES UNDER NATIONAL PENSION SYSTEM


    Dr. T. Subbarami Reddy
    Will the Minister of FINANCE be pleased to state:

(a) whether it is a fact that National Pension System (NPS) is a less preferred saving option among employees in the private sector;

(b) the number of companies registered and the number of employees covered under NPS as on 1st of January, 2020;

(c) whether any campaign or strategy has been worked out by Pension Fund Regulatory Development Authority to approach companies for increased coverage of employees under NPS; and

(d) the number of employees or subscribers who are expected to be added for pension by the end of the financial year, the details thereof?

ANSWER

The Minister of State (Finance) (Shri Anurag Singh Thakur)

(a) & (b) As per information received from the Pension Fund Regulatory and Development Authority (PFRDA), the National Pension System (NPS) was opened up for private sector subscribers in the year 2009 on voluntary basis. Since then, till 18.01.2020, a total of 20.35 lakh subscribers have enrolled under NPS in the private sector (All Citizen Model and Corporate Model). As on 01.01.2020, 7,063 (Seven thousand and sixty three) corporate and 9,18,300 (Nine lakh eighteen thousand and three hundred) subscribers have registered and enrolled under NPS respectively.
READ  GDS Revised Rate of Wages & Allowances - Annexure I - Existing and Revised Allowances

(c) In its endeavour to promote NPS among the private sector employees, PFRDA, periodically, conducts NPS workshops/conferences at various locations across the country in coordination with various trade bodies and organizations such as FICCI, Willis Tower Watson, Mercer, etc. wherein corporates are invited for such Seminars/Conferences. PFRDA also engages with corporates which have already implemented NPS for their employees and conducts awareness sessions/seminars/interactions with their employees. Further, the NPS distribution channels like point of presence, and retirement advisers are being regularly followed-up/guided/encouraged for increasing the coverage of NPS in the voluntary non-government segment. Awareness about NPS is also being promoted through media activities, including digital and social media on a regular basis.

(d) As per PFRDA, under the private sector NPS (All Citizen Model and Corporate Model), for the current FY 2019-20, 3.49 lakh subscribers have already enrolled under NPS as on 27.01.2020, and it is expected to increase further by the financial year end 2019-20.

******

Source Hindi: https://pqars.nic.in/annex/251/AU224.docx
English: https://pqars.nic.in/qhindi/251/AU224.docx

0 comments

Post a Comment